Kya Bhulu Kya Yaad Karu (Hindi Edition) by Harivansh Rai Bachchan Free PDF Download Online e Book

प्रख्यात हिन्दी कबि हरिवंशराय 'बच्चन' की आत्मकथा का पहला खंड, "क्या भूलूँ क्या याद करूँ" जब 1969 से प्रकाशित हुआ तब हिन्दी साहित्य में मानो हलचल मच गई । यह हलचल 1935 से प्रकाशित "मधुशाला" से किसी भी प्रकार कम नहीं थी l अनेक समकालीन लेखको ने इसे हिन्दी के इतिहास की ऐसी पहली घटना बताया जब अपने बारेमें इतनी इतनी बेबाकी से सब कुछ का देने का साहस किसी ने दिखाया । इसके बाद आत्मकथा के आगामी खंडों की बेताबी से प्रतीक्षा की जाने लगी और उन सभी का जोरदार स्वागत होता रहा। प्रथम खंड " क्या भूलूँ क्या याद करूँ " के बाद नीड़ का निर्माण फिरा, "बसेरे से दूर" और " 'दशद्वार से 'सोपान' तक" लगभग पंद्रह वर्षों से इसके चार खंड प्रकाशित हुए । बच्चन की यह कृति आत्मकथा साहित्य की चरम परिणति है और इसकी गणना कालजयी रचनाओं में की जाती है ।

Try Audible and Get Two Free Audiobooks

Note:- Download links dont work for books for which we dont have copyright permission.

Book Title:-Kya Bhulu Kya Yaad Karu (Hindi Edition)

Author:-Harivansh Rai Bachchan

ISBN 13:-9788170281344

ISBN 10:-8170281342

Edition:-

Binding:-Hardcover

Publication date:-2013-01-01

Publisher:-Rajpal and Sons

256
Pages
$14.00
Approx. Price
0
Height
0
Lenght
0
Width
93
Weight

Contact Up

For any copyright claims or reporting errors please free to contact us at vinaygain@gmail.com

Contact us at vinaygain@gmail.com

More Books